Agriculture News, jobs

कृषी समाचार

ई-नाम से जुड़ने के मामले में अधिकतर राज्यों ने अच्छी प्रगति की है

पश्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि, केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने कहा है कि ई-नाम से जुड़ने के मामले में अधिकतर राज्यों ने अच्छी प्रगति की है। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश इस संबंध में बधाई के पात्र हैं। छत्तीसगढ़ एवं तेलंगाना पहले ही इसमें गतिशील हैं | अन्य कई राज्यों ने भी प्रगति दर्शायी है।

आगे पढिए...

फसल कटाई उपरान्त मशीनों द्वारा पराली का प्रबंधन

पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्यों में फसल के अवशेषों को जलाना, पर्यावरण प्रदूषण के स्तर को बढ़ाने में भी योगदान देता है। राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल ने इस द्विवार्षिक गंभीर खतरा से निपटने के लिए सख्त उपाय करने के लिए दिल्ली सरकार और इन चार उत्तरी राज्यों को निर्देश दिए हैं।

आगे पढिए...

श्री राधा मोहन जैविक कृषि विश्व कुंभ 2017 का उद्घाटन करेंगे।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ग्रेटर नोएडा में 9 से 11 तक चलने वाले जैविक कृषि विश्व कुंभ 2017 का उद्घाटन करेंगे। यह आयोजन ग्रेटर नोयडा के इंडिया एक्सपो सेंटर में हो रहा है। इस आयोजन में विश्व के 110 देशों के 1400 प्रतिनिधि और 2000 भारतीय प्रतिनिधि शामिल होंगे।

आगे पढिए...

श्री राधा मोहन जैविक कृषि विश्व कुंभ 2017 का उद्घाटन करेंगे।

4 नवंबर, 2017 को नई दिल्ली में आयोजित वर्ल्ड् फूड इंडिया, 2017 के अवसर पर केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि “वर्ल्ड फूड इंडिया” एक अनोखा प्लेटफार्म है जिसमें विश्व के 60 देशों से आये प्रतिनिधि भारत के इस प्रगति को अपनी आंखों से देखकर ना केवल समझ सकेंगे बल्कि उसका आकलन भी कर करेंगे।

आगे पढिए...

बागवानी के विकास के लिए सरकार MIDH का कार्यान्वयन कर रही है।

4 नवंबर, 2017 को नई दिल्ली में आयोजित वर्ल्ड् फूड इंडिया, 2017 के अवसर पर केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि “वर्ल्ड फूड इंडिया” एक अनोखा प्लेटफार्म है जिसमें विश्व के 60 देशों से आये प्रतिनिधि भारत के इस प्रगति को अपनी आंखों से देखकर ना केवल समझ सकेंगे बल्कि उसका आकलन भी कर करेंगे।

आगे पढिए...

किसानों की आय बढ़ाने के लिए ७ सूत्रीय कार्यनीति

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने नई दिल्ली में कहा कि सरकार का किसानों की आय दुगनी करने का लक्ष्य है और इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री ने एक सात सूत्रीय कार्यनीति का आह्वान किया है

आगे पढिए...

भारत सरकार ने “राष्ट्रीय गोकुल मिशन” शुरू किया है ।

श्री राधा मोहन सिंह ने मोतिहारी में आयोजित पशु आरोग्य मेला को सम्बोधित किया। केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि बिहार में कुल दूध उत्पादन वर्ष 2015-16 में 8.29 मिलियन मीट्रिक टन था जो पूरे देश का 5.33% है। बिहार में देश के कुल पशु का 6.67% है। अतः बिहार में दूध उत्पादन एवं दूध उत्पादकता बढ़ाने की आवश्यकता है।

आगे पढिए...

भ्रूण अंतरण प्रौद्योगिकी (ईटीटी), बोवाईन प्रजनन के क्षेत्र में एक सकारात्मक क्रांति

भ्रूण अंतरण प्रौद्योगिकी (ईटीटी) गोपशुओं में आनुवांशिक सुधार को इष्टतम बनाने के एक उपकरण के रूप में बोवाईनों में प्रजनन कार्यनीतियों में क्रांति लाई है।

आगे पढिए...

सूखे की समस्या से स्थायी निजात पाने के लिए पीएमकेएसवाई की शुरुआत की गई है

माननीय केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि सूखे की समस्या से स्थायी निजात पाने के लिए प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) की शुरुआत की गई है। इस योजना के मिशन मोड वाले क्रियान्वयन में तीन मंत्रालय सम्मिलित हैं जिसकी अगुवाई जल संसाधन मंत्रालय कर रहा हैं।

आगे पढिए...

सूखे की समस्या से स्थायी निजात पाने के लिए पीएमकेएसवाई की शुरुआत की गई है

माननीय केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि सूखे की समस्या से स्थायी निजात पाने के लिए प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) की शुरुआत की गई है। इस योजना के मिशन मोड वाले क्रियान्वयन में तीन मंत्रालय सम्मिलित हैं जिसकी अगुवाई जल संसाधन मंत्रालय कर रहा हैं।

आगे पढिए...

महिलाएं कृषि में बहुआयामी भूमिकाएं निभाती हैं।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि सरकार की विभिन्न नीतियों जैसे जैविक खेती, स्वरोजगार योजना, भारतीय कौशल विकास योजना, इत्यादि में महिलाओं को प्राथमिकता दी जा रही है और यदि महिलाओं को अच्छा अवसर तथा सुविधा मिले तो वे देश की कृषि को द्वितीय हरित क्रांति की तरफ ले जाने के साथ देश के विकास का परिदृष्य भी बदल सकती हैं।

आगे पढिए...

श्री राधा मोहन सिंह ने पायनियर प्रोजेक्ट चमन की समीक्षा की

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने कहा बागवानी क्षेत्र को सामरिक विकास प्रदान करने के लिए, ताकि किसानों की आय में वृद्धि की जा सके, चमन नामक एक अग्रणी परियोजना तीन साल पहले नई सरकार द्वारा शुरू की गई है।

आगे पढिए...

प्रधानमंत्रीजी ने "नानाजी देशमुख प्लांट फिनोमिक्स केंद्र" का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी जी ने आज पूसा में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा विकसित "नानाजी देशमुख प्लांट फिनोमिक्स केंद्र" का उद्घाटन किया । जलवायु परिवर्तन एवं अजैव प्रतिबल जैसे कि सूखा, जलक्रांति, ताप, लवणता, पोषक तत्वों की कमी तथा जैव प्रतिबल, फसल उत्पादकता एवं गुणवत्ता को दुष्प्रभावित करते हैं।

आगे पढिए...

कृषि राज्य मंत्री द्वारा कृषि ज्ञान प्रबंध कार्यशाला का उद्घाटन

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत द्वारा भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की ओर से ‘भारत में कृषि ज्ञान प्रबंधन पर मार्गदर्शिका के विकास‘ विषय पर आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला का आज नास परिसर, नई दिल्ली में उद्घाटन किया गया।

आगे पढिए...

देश को विकसित करने के लिए कृषि और किसान, दोनों को विकसित करने की जरूरत है

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि कृषि लोगों के जीवन और देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जंहा 50 प्रतिशत से अघिक लोग अपनी आजिविका के लिए कृषि पर निभर हैं। देश को विकसित करने के लिए कृषि और किसान, दोनों को विकसित करने की जरूरत है।

आगे पढिए...

कृषि मंत्रालय किसानों के हित कई योजनाएं चला रहा है

कृषि मंत्रालय किसानों के हित कई योजनाएं चला रहा है- जैसे कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, राष्ट्रीय कृषि बाजार- (ई – नेम), परंपरागत कृषि विकास योजना, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना आदि।

आगे पढिए...

सरकार द्वारा किए गए काम का प्रचार करने के लिए किसान चौपाल का आयोजन

किसानों के दल ने किसानों के लिए वसुंधरा राजे सरकार द्वारा किए गए काम का प्रचार करने के लिए राज्य भर में 'किसान चौपाल' का आयोजन किया।

आगे पढिए...

खाद्यान्न का उत्पादन 265 मिलियन टन से बढ़कर 2016-17 में 273.38 मिलियन टन हुआ

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड के तहत आयोजित प. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशती कृषि उन्नति मेला के उद्घाटन समारोह में लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा है कि कृषि मंत्रालय द्वारा किसानों के लिए पिछले तीन सालों में चलाई गई विभिन्न विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाते हुए देश के किसानो ने वर्ष 2016-17 में खादयान्न का रिकार्ड उत्पादन किया है।

आगे पढिए...

लाल मंडी में एकीकृत मशरूम विकास केंद्र का उद्घाटन

कृषि मंत्री गुलाम नबी लोन हंजुरा और शिक्षा मंत्री सैयद मोहम्मद अलताफ बुखारी ने लाल मंडी में 4 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर निर्माण किया जा रहा एकीकृत मशरूम विकास केंद्र (आईएमडीसी) का उद्घाटन किया।

आगे पढिए...

विभाग द्वारा पशुपालन क्षेत्र के विकास के लिए प्रयास

कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री का कार्यभार संभालने के बाद श्रीमती कृष्णा राज ने आज पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन विभाग द्वारा कार्यान्वित की जा रही योजनाओं की समीक्षा की, जिसमें पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन विभाग के सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुये।

आगे पढिए...

"भारत में मिठास क्रांति के सौ 100 वर्ष: प्रजाति 205 से प्रजाति 0238 तक”कार्यक्रम

वानस्पतिक (बोटनिस्ट) सर डा. वेंकटरमण के सहयोग से देश की पहली अन्तरजातीय संकर प्रजाति (सेकेरम ऑफसिनेरम व सेकेरम स्पोंटेनियम का क्रॉस) “प्रजाति 205” उपोष्ण जलवायु हेतु विकसित की, जिसे वाणिज्यिक खेती के लिए 1918 में जारी किया गया।

आगे पढिए...

छत्तीसगढ़ राज्य को 'बागवानी नेतृत्व पुरस्कार 2017' मिला

छत्तीसगढ़ को बागवानी फसल उत्पादन बढ़ाने के लिए अपनी पहल और योजनाओं के लिए पुरस्कार प्राप्त हुआ है।

आगे पढिए...

महिलाओं के लिए कृषि योजनाओं में 30 प्रतिशत धनराशि निर्धारित की जा रही है

केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कृषि योजनाओं के लिए बजट में आवंटित निधि के कम से कम 30 प्रतिशत निधि महिलाओं को कृषि के मुख्यधारा में लाने के प्रयासों के तहत महिलाओं के लिए निर्धारित किया जा रहा है।

आगे पढिए...

किसानों को केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने सातसूत्री मंत्र दिया।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद का पूर्वी अनुसंधान परिसर, पटना द्वारा कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, पटना तथा कृषि विज्ञान केन्द्र, बाढ़ के सहयोग से आज "न्यू इंडिया मंथन-संकल्प से सिद्धि" कार्यक्रम का आयोजन बामेती, पटना में किया गया।

आगे पढिए...

नई फसल बीमा योजनाओं में उन्नत तकनीक का प्रयोग

पूर्ववर्ती फसल बीमा योजनाओं में उन्नत प्रौद्योगिकियों को न अपनाने के कारण बीमा दावों के निपटान में काफी विलम्ब होता था ।

आगे पढिए...

केरल सरकार 4000 सब्जी बाजार प्रस्थापित करेंगे।

केरल के कृषि मंत्री वी.एस. सुनील कुमार ने कहा है कि सरकार राज्य में 4,315 सब्जी बाजार खुलवाएगी जहां पे त्योहार के दौरान कम कीमतों पर सब्जी मिलेंगी |

आगे पढिए...

कृषि स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए "कृषि उड़ान" कार्यक्रम

राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंधन अकादमी (NAARM) ने "कृषि उड़ान" कार्यक्रम चालू किया, जिसमें चयनित स्टार्टअप को नवीन कृषि उत्पादों को विकसित करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

आगे पढिए...

हरियाणा सरकार द्वारा युवाओं को आधुनिक कृषि व्यापार पर प्रशिक्षण

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि कृषि के विकास के बारे में विचार काफी समय से होता आ रहा है परन्तु आज़ादी के बाद से यह पहली सरकार है जो कृषि के विकास के साथ- साथ कृषकों के आर्थिक उन्नयन के बारे में भी धरातल स्तर पर बहुत तेजी के साथ कार्रवाई भी कर रही है I

आगे पढिए...

अब तक 9 करोड़ मृदा स्वास्थ्य कार्ड किसानों को वितरित किए जा चुके हैं

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि कृषि के विकास के बारे में विचार काफी समय से होता आ रहा है परन्तु आज़ादी के बाद से यह पहली सरकार है जो कृषि के विकास के साथ- साथ कृषकों के आर्थिक उन्नयन के बारे में भी धरातल स्तर पर बहुत तेजी के साथ कार्रवाई भी कर रही है I

आगे पढिए...

किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार ने कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाए है।

सरकार ने कृषि उत्पाद और पशुधन विपणन (संवर्धन और सरलीकरण) अधिनियम 2017 को तैयार किया जिसे राज्यों के संबद्ध अधिनियमों के जरिये उनके द्वारा अपनाने के लिए 24.04.2017 को जारी कर दिया गया।

आगे पढिए...

कृषि यंत्रीकरण कृषि क्षेत्र के सतत विकास के लिए महत्वपूर्ण घटको में से एक है।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि कृषि यंत्रीकरण कृषि क्षेत्र के सतत विकास के लिए महत्वपूर्ण घटको में से एक है, जो समय पर कृषि कार्यों के माध्यम से उत्पादन वृद्धि में मदद करता है,

आगे पढिए...

जीएसटी परिषद ने रासायनिक खाद पर कर का दर 5 प्रतिशत कर दिया है।

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) के शुरू होने के कुछ घंटों पहले, सभी शक्तिशाली जीएसटी कौंसिल ने आज रात 12 फीसदी से पहले तय किए गए उर्वरक पर कर की दर को घटाकर 5 फीसदी कर दिया।

आगे पढिए...

जम्मू एवं कश्मीर ने कृषि के उत्पादन स्तर को बढ़ाने में सफलता हासिल की है।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि सरकार, भारतीय अर्थव्यवस्था के सतत् विकास के लिए प्रतिबद्ध एवं क्रियाशील है। कृषि जगत से संबंधित उद्यमों का विकास कर, जिसमें उत्पादों का भण्डारण तथा उसका प्रसंस्करण कर बाजार में भारतीय कृषि उत्पादों को लाकर भारत को दुनिया के प्रमुख आर्थिक शक्तियों वाले देश में शामिल कर सकते हैं।

आगे पढिए...

तमिलनाडु में पशुधन के लिए युनिक पहचान अंक

तमिलनाडु राज्य पशुपालन विभाग ने गायों और भैंसों के लिए युनिक पहचान अंक जारी करना शुरू कर दिया है।

आगे पढिए...

सब्जियों के शैल्फ जीवन बढ़ाने के लिए सरकारी विकिरण सुविधाएं |

हालि में मध्य प्रदेश में जहां किसानों को प्याज के बंपर उत्पादन के कारण प्याज को अचेतन कीमतों पर या खेतों में इसे ढेर करना पड़ा था | जिस वजह से भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (बीएआरसी) को राज्य में विकिरण सुविधाओं की स्थापना के लिए प्रेरित किया है |

आगे पढिए...

सॉयल हेल्थ कार्ड स्कीम के लिए 93% नमूने परीक्षित किए जा चुके हैं।

सॉयल हेल्थ कार्ड स्कीम किसानों के लिए शुरू की गयी एक क्रांतिकारी योजना है जिससे किसानों की खेती और उपज पर काफी फर्क पड़ रहा है। इससे फसल की उत्पादकता में वृद्धि हो रही है और खेती की लागत कम हो रही है।

आगे पढिए...

देश में पहली बार “राष्ट्रीय गौकुल मिशन” नामक एक नई पहल की गई।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि भारत 15 वर्षों से दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में विश्व अग्रणी हैं और यह सफलता छोटे डेयरी किसानों, दुग्ध उत्पादकों, प्रसंस्करणकर्ताओं, नियोजकों, संस्थानों तथा अन्य सभी पणधारियों के कारण है।

आगे पढिए...

कृषि समुदाय को अपनी आय बढ़ाने के लिए अपने उत्पादों के प्रत्यक्ष विपणन को अपनाने की जरूरत है।

चंडीगढ़: हरियाणा कृषि और किसान कल्याण मंत्री ओ पी धनकर ने कृषि उत्पादन प्रबंधन, विविधता और प्रत्यक्ष विपणन में सुधार के लिए किसानों को एक लाख प्रति एकड़ की कमाई के लिए प्रोत्साहित किया। मंत्री ने पंजाब और हरियाणा में कृषि व्यवसाय स्कूलों में, बाजार में कृषि उत्पादों के तरीकों पर प्रशिक्षण देने के लिए कहा।

आगे पढिए...

कैबिनेट की आईएआरआई- असम को मंजूरी

"कैबिनेट ने शत प्रतिशत परिव्यय के साथ असम सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गयी 587 एकड़ भूमि पर भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई) असम की स्थापना के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी," केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री , श्री राधा मोहन सिंह ने कहा।

आगे पढिए...

273.38 मिलियन टन का रिकॉर्ड अनाज उत्पादन का अनुमान

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा 2016-17 के लिए मुख्य फसलों के उत्पादन के तीसरे अग्रिम अनुमान 09 मई, 2017 को जारी किए गए हैं। विभिन्न फसलों के उत्पादन के अनुमान राज्यों से प्राप्त प्रत्युत्तर पर आधारित हैं और अन्य स्रोतों से उपलब्ध सूचना से उसका सत्यापन किया गया है।

आगे पढिए...

फसल हानि में सहायता की पात्रता के मापदंड 50 प्रतिशत को संशोधित करके 33 प्रतिशत किया गया।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए हाल में फसल हानि में सहायता की पात्रता के मापदंड 50 प्रतिशत को संशोधित करके 33 प्रतिशत कर दिया गया है।

आगे पढिए...

खेत प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए हैदराबाद में i-हब की स्थापना

कामकाज में टी हब के समान, नए शुरू इनक्यूबेटर कृषि और संबंधित क्षेत्रों में काम कर रहे स्टार्टअप पोषण करेगा। कृषि क्षेत्र में प्रौद्योगिकी के उपयोग के किसानों के लिए बेहतर लाभ प्राप्त करने के लिए बढ़ावा देना ही उद्देश्य है।

आगे पढिए...

किसानों के लिए ई- कृषि संवाद: पब्लिक आईसीएआर इंटरफेस

ई- कृषि संवाद का लोकापर्ण 11 मई 2017 को केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने किया। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि यह किसानों को एक विशिष्ट इंटरनेट आधारित ऑनलाईन मंच प्रदान करेगा ।

आगे पढिए...

पंजाब में यंत्रीकृत कपास बुवाई |

दक्षिण-पश्चिमी पंजाब में पूरे जोरों पर कपास की बुवाई का मौसम चल रहा है, के साथ, मुक्तसर जिले में मजदूरों की समस्या से उभरने के लिए पहली बार एक छोटे पैमाने पर यंत्रीकृत बुवाई हो रही हैं ।

आगे पढिए...

पीएयू ने आठ नई फसल किस्मों को जारी किया है।

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय (पीएयू) ने पंजाब में सामान्य खेती के लिए चावल, मूगबिन, बासमती और गन्ने की नई किस्मों को जारी किया है।

आगे पढिए...

किसानों की आय बढ़ाने के लिए उपग्रह और रिमोट सेंसिंग तकनीक का उपयोग

कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि उपग्रह और रिमोट सेंसिंग टेक्नोलॉजी के उपयोग से कृषी क्षेत्र में विकास के लिए असीमित संभावनाएं हैं।

आगे पढिए...

फसल बीमा योजना के तहत 40% सकल बोया क्षेत्र

सरकार ने 2017-18 सीजन में जुलाई से शुरू होने वाली फसलों बीमा योजनाओं के तहत 194.4 मिलियन हेक्टेयर के सकल बोया क्षेत्र का 40% लाने का लक्ष्य रखा है।

आगे पढिए...

खरीफ अभियान 2017 सम्मेलन का उद्घाटन नई दिल्ली किया गया।

राष्ट्रीय कृषि सम्मेलन खरीफ अभियान-2017, 25 और 26 अप्रैल, 2017 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित किया गया है। इस सम्मेलन का उद्घाटन केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह द्वारा किया गया। इस सम्मेलन को केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री श्री परषोत्तम रूपाला और श्री सुदर्शन भगत ने भी संबोधित किया।

आगे पढिए...

केंद्र और राज्यों द्वारा आयोजित राशन दुकानों पर अनाज सब्सिडी को प्रदर्शित करना चाहिए।

खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि, राज्य सरकारें केंद्र और राज्यों द्वारा आयोजित राशन दुकानों पर अनाज सब्सिडी को प्रदर्शित करना चाहिए। गरीबों को सब्सिडी वाले अनाज को बेचने के लिए राज्यों को ऋण लेने से रोकने के लिए यह किया जाना चाहिए |

आगे पढिए...

कृषी समाचार: एनडीडीबी द्वारा सहकारी डेयरी समितियों के लिए "गुणवत्ता चिह्न" पुरस्कार योजना

पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन विभाग ने "श्वेत क्रांति" योजनाओं के अंतर्गत एक अभिनव पहल के रूप में, राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी) द्वारा सहकारी डेयरी समितियों के लिए एक "गुणवत्ता निशान" पुरस्कार योजना की पहल का स्वागत किया है ताकि दूध और दुग्ध उत्पादों की सुरक्षा, गुणवत्ता और स्वच्छता को और प्रोत्साहित किया जा सके। इसका उद्देश्य उत्पादक से उपभोक्ता तक पूरी मूल्य श्रृंखला में प्रक्रिया सुधार के द्वारा घरेलू और विदेशी बाजार दोनों में दूध और दुग्ध-उत्पादों की एक सुरक्षित और उत्तम गुणवत्ता की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: RS और GIS का उपयोग कर चाय क्षेत्र का विकास और प्रबंधन

चाय भारत में सबसे महत्वपूर्ण पेय पदार्थों में से एक है और प्रमुख विदेशी मुद्रा अर्जक है । भारत दुनिया में चाय का सबसे बड़ा उत्पादक है। उत्तर-पूर्व में असम, पश्चिम बंगाल, मेघालय, त्रिपुरा और सिक्किम के भारतीय राज्य और दक्षिण में तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल देश के समग्र चाय उत्पादन में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: केंद्रदूध उत्पादन के लिए केंद्र सरकार की योजनाएं ।

दुग्ध-उत्पादन के लिए केंद्र सरकार की ओर से कई योजनाओं को संचालित किया जाता है। इसके लिए दुग्ध उत्पादकों को कई तरह के अनुदान दिये जाते हैं। डेयरी इंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट स्कीम के तहत दुग्ध-उत्पादन करने वालों को वित्तीय सहयोग किया जाता है। यह वित्तीय सहयोग छोटे किसानों तथा भूमिहीन मजदूरों को प्रमुख रूप से दिया जाता है।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा उत्तर प्रदेश में आलू उत्पादकों को सहायता

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने 2016-17 के लिए उत्तर प्रदेश में मंडी मध्यस्थता योजना (एमआईएस) के तहत आलूओं की खरीद के लिए मंजूरी दे दी है। राज्य अभिकरण द्वारा अधिकतम एक लाख मीट्रिक टन आलूओं की खरीद की जा सकती है। राज्य अभिकरण के परामर्श से राज्य सरकार द्वारा खरीद के केंद्रों/क्षेत्रों का निर्धारण किया जाएगा।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: अंतरिक्ष विज्ञान का इस्तेमाल कृषि विकास के लिए अत्यंत उपयोगी होगा।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह और डा. जितेंद्र सिंह, राज्यमंत्री, परमाणु उर्जा विभाग और अंतरिक्ष विभाग, पूर्वोत्तर क्षेत्र, कार्मिक और लोक शिकायत विभाग की उपस्थिति में आज नई दिल्ली में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (आरकेवीवाई) के तहत सृजित परिसंपतियों की निगरानी हेतु..

आगे पढिए...

कृषी समाचार: सरकार ने पशुधन विकास, संवर्धन और संरक्षण के लिए कई कदम उठाए हैं।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि पशुओं का स्वास्थ्य किसान हित से जुड़ा है, अगर पशु स्वस्थ होंगे तो किसानों की आमदनी बढ़ेगी। इस दिशा में सरकार की पहल का ही नतीजा है कि देश दुध उत्पादन में नंबर वन पर बना हुआ है और अंडा उत्पादन में तीसरे स्थान पर आ पहुंचा है।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: मल्उन्नत किस्म के बीज-JRO 204- के उत्पादन को बढ़ाने एवं किसानों को उसकी पर्याप्त जानकारी दी जाएगी।

जूट उत्पादन के संबंध में आज केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह और केन्द्रीय वस्त्र मंत्री, श्रीमती स्मृति ईरानी की संयुक्त बैठक कृषि भवन, नई दिल्ली में हुई। इस बैठक में गत वर्षों में किए गये उपायों एवं वर्ष 2017-18 के लिए कार्ययोजना पर भी बातचीत हुई।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: मल्टी टेक्नोलॉजी टेस्टिंग सेन्टर का शिलान्यास किया गया ।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि चूंकि दूसरी हरित क्रान्ति की शुरुआत पूर्वी राज्यों से होगी, इसलिए पूर्वोत्तर में कृषि विकास की गति तेज कर इन्हें कृषि विकास की मुख्य धारा में लाना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार उत्तर-पूर्वी राज्यों में कृषि को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। कृषि मंत्री ने यह बात आज यहां मल्टी टेक्नोलॉजी टेस्टिंग सेन्टर का शिलान्यास करते हुए कही। जो कि कुल 20 करोड़ की लागत से बनाया जायेगा।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: केंद्र सरकार ने गोरौल (वैशाली) में केला अनुसंधान केन्द्र स्थापित किया है |

गोरौल जिला वैशाली, बिहार में केला अनुसंधान केन्द्र के शिलान्यास के अवसर पर केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि बिहार केले की खेती के लिए काफी उपयुक्त है और बड़े पैमाने पर केले की पैदावार यहां के किसानों की तकदीर बदल सकती है।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: खरीफ-पूर्व विमर्श का आयोजन राजधानी में किया गया |

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग (एसी एंड एफडब्ल्यू) तथा भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के बीच खरीफ-पूर्व विमर्श का आयोजन पिछले सप्ताह राजधानी में किया गया था। विमर्श की अध्यक्षता एसी एंड एफडब्ल्यू के सचिव और सह-अध्यक्षता कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग (डीएआरई) के सचिव ने की थी। विमर्श में एसी एंड एफडब्ल्यू, पशुपालन, डेरी एवं मत्स्य पालन तथा आईसीएआर/ डीएआरई के वरिष्ठ अधिकारी भी सम्मिलित हुए।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: कृषि मंत्रालय ने प्रत्येक वर्ष 15 अक्टूबर को महिला किसान दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है।

केंद्रीय कृषि एंव किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि महिलाओं तक वित्तीय सहायता पहुंचाने के लिए यह जरूरी है कि देश में महिला सहकारिता को मजबूत बनाया जाए। श्री सिंह ने कहा कि महिला सहकारिता में प्रगति और सफलता की अपार संभावनाएं मौजूद हैं और यदि सफलता जारी रहती है तो सफल महिला सहकारिताओं से अधिक से अधिक महिलाओं को लाभ होगा।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: कृषी उन्नति मेळा, पुसा, नई दिल्ली

स्थान: मेला ग्राउंड आईएआरआई, पुसा, नई दिल्ली
राधा मोहन सिंह, केंद्रिय कृषि एवं किसान कल्यान मंत्री 15 मार्च 2017 को प्रात: 11.00 बजे कृषि उन्नति मेलें का उद्घाटन करेंगे ।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: सजावटी मछलीपालन पर पायलट परियोजना केंद्र लांच करेगा।

कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के पशुपालन, डेयरी तथा मछलीपालन विभाग सजावटी मछलीपालन की क्षमता और व्यापकता को महसूस करते हुए 61.89 करोड रूपये की लागत से पायलट आधार पर सजावटी मछलीपालन परियोजना लांच करेगा।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: राष्ट्रीय अरंडी किसान मेला - 2017

भाकृअनुप - भारतीय तिलहन संस्थान, राजेन्द्र नगर, हैदराबाद द्वारा राष्ट्रीय तिलहन व ताड़तेल मिशन (एनएमओओपी), कृषि एवं सहकारिता विभाग, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय अरंडी किसान मेला – 2017 का आयोजन 24 फरवरी, 2017 को किया गया।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की जानकारी |

मानसून पर खेती की निर्भरता कम करने के उद्देश्य से सरकार ने हर खेत को पानी पहुँचाने के लिये प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना स्वीकृत की है। इस योजना में तीन मंत्रालयों, नामतः जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा पुनरुद्धार मंत्रालय, ग्रामीण विकास मंत्रालय तथा कृषि मंत्रालय की विभिन्न जल संरक्षण, संचयन एवं भूमिजल संवर्धन तथा जल वितरण सम्बन्धित कार्यों को समेकित किया गया है। इस योजना के लिये अगले पाँच वर्षों के लिये 50000 करोड़ आवंटित किया गया है।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: भारत ने संयुक्त पशु रोग निगरानी एवं नियंत्रण कार्यक्रमों हेतु गठबंधन करने के लिए प्रतिबद्धता दर्शायी है

प्रथम सार्क महामारी विज्ञान नेटवर्किंग फोरम की बैठक भारत सरकार {पशु स्वास्थ्य प्रभाग, पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन विभाग (डीएएचडीएफ), कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय}, सार्क सचिवालय और एफएओ द्वारा संयुक्त रूप से नई दिल्ली स्थित एनएएससी कॉम्प्लेक्स में 27-28 फरवरी, 2017 को सीसीएस राष्ट्रीय पशु स्वास्थ्य संस्थान (सीसीएस एनआईएएच) के जरिये आयोजित की गई।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: श्री रूपाला ने बोर्ड के पशुचारा ज्ञान पोर्टल की शरूआत की

कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री परषोत्तम रूपाला ने कहा है कि कृषि देश की ग्रामीण अर्थव्यवथा की रीढ़ है, जिसमें डेरी की अहम भूमिका है। भारत दुनिया में सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादन देश है, लेकिन इसके बावजूद प्रति पशु उत्पादकता में सुधार की अपार क्षमताएं मौजूद हैं।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: ICAR-IIHR,भुबनेश्वर में किसान हॉस्टल व प्रशिक्षण केन्द्र का शिलान्यास किया गया।

आईसीएआर- आईआईएचआर (ICAR-IIHR),भुबनेश्वर के केन्द्रीय प्रायोगिक बागवानी स्टेशन में डॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, भाकृअनुप द्वारा किसान हॉस्टल व प्रशिक्षण केन्द्र का शिलान्यास किया गया।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: पशुपालन आधारित एकीकृत कृषि पद्धति |

डॉ. ओ.पी. यादव (निदेशक, भाकृअनुप- काजरी) द्वारा ‘कृषक महिलाओं के प्रौद्योगिकीय विकास के लिए पशुपालन आधारित एकीकृत कृषि पद्धति’ पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: भारत का दुग्ध उत्पादन 2014-15 में 146.31 करोड़ टन हुआ है |

केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टिट्यूट में आयोजित एक कार्य्रकम में यह जानकारी दी कि भारत का दुग्ध उत्पादन 2014-15 में बढ़कर 146.31 करोड़ टन पहुंच गया है, और दूध की प्रति व्यक्ति उपलब्धता भी बढ़कर 302 ग्राम हो गई है | बस इतनाही नही तो विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा सुझाई गई न्यूनतम मात्रा से यह मात्रा अधिक है।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: कृषि विकास दर बढ़कर 4.1 प्रतिशत हो गई है: श्री राधा मोहन सिंह |

केंद्रीय कृषि एंव किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि पिछले वर्ष का 2 प्रतिशत कृषि विकास दर का इस वर्ष बढ़कर 4.1 प्रतिशत हो जाना इस बात को दर्शाता है कि सरकार किसानों और खेतीबाड़ी की बेहतरी के लिए कितनी गंभीरता से काम कर रही है।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: भारत और इजरायल कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध ।

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह से इजरायल के कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री यूरी एरियल की अगुवाई वाले इजरायली प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की। इस दौरान भारत और इजरायल के बीच कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग से जुड़े मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: मृदा नमी संकेतक के लिए लाइसेंस समझौता ।

नेशनल रिसर्च डेवलपमेंट कारपोरेशन (एनआरडीसी) के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक डॉ. एच. पुरुषोत्‍तम ने सूचित किया है कि एनआरडीसी को देश में मृदा नमी संकेतक के विनिर्माण के लिए तकनीकी ज्ञान की कमर्शलाइजिंग/ लाइसेंसिंग के लिए नोडल एजेंसी नियुक्‍त किया गया है।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: 2015-16 के दौरान 60 लाख मृदा नमूना का परीक्षण किया गया ।

वर्ष 2015-16 के दौरान 104 लाख मृदा नमूनों को एकत्रित करने का लक्ष्य है और किसानों के लिए स्वाइल हेल्थ कार्ड योजना के तहत उनका परीक्षण किया जाना है। आंध्र प्रदेश, केरल, मेघालय, नगालैंड, तेलंगाना, सिक्किम, गुजरात, त्रिपुरा, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में 90 फीसदी नमूने एकत्रित कर लिए गए हैं।

आगे पढिए...

कृषी समाचार: राष्ट्र में बीज हब का निर्माण किया जा रहा है- श्री राधा मोहन सिंह

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने भारतीय दलहन अनुसंधान संस्‍थान, कानपुर द्वारा अंतर्राष्‍ट्रीय दलहन वर्ष के उपलक्ष्‍य में कार्यक्रम को आज सम्बोधित किया। श्री सिंह कहा कि भारत सरकार ने इस वर्ष के आम बजट में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के अंतर्गत दलहनी फसलों की उत्पादकता तथा उत्पादन बढ़ाने हेतु 500 करोड़ रू. के बजट का प्रावधान रखा है जिससे देश में दलहन सुरक्षा की ओर हम कई कदम आगे बढ़ेंगे।

आगे पढिए...












Copyright © 2017 · All Rights Reserved · IndiaAgroNet.Com